झारखंड प्रदेश के रांची जिले में बिना राशन कार्ड धारकों को भी यहां की प्रशासन व्यवस्था अनाज वितरण कर रही है।

झारखंड प्रदेश के रांची जिले में बिना राशन कार्ड धारकों को भी यहां की प्रशासन व्यवस्था अनाज वितरण कर रही है।

भारत के प्रत्येक राज्य की सरकारें अपने-अपने नागरिकों के आर्थिक संकट को समझते हुए उनके लिए नए-नए एवं महत्वपूर्ण निर्णय ले रहे हैं। ऐसे में झारखंड प्रदेश का रांची जिला भी अपने नागरिकों के हित के लिए महत्वपूर्ण निर्णय लेने से पीछे नहीं हट रहा है।

झारखंड के रांची जिले में जो भी नागरिक लाल और पीले राशन कार्ड के लिए नए आवेदन किए हुए हैं , उनके लिए भी वहां की प्रशासन व्यवस्था ने राशन वितरण करने का निर्णय लिया हुआ है।

लाल और पीले नए राशन कार्ड बनवाने के लिए झारखंड प्रदेश के रांची में अब तक कुल 61749 लोगों का आवेदन लंबित हो चुके हैं। रांची जिले के प्रत्येक नए राशन कार्ड आवेदक व्यक्तियों को मोबाइल ऐप के जरिए राशन वितरण करने का नया प्रावधान रांची की प्रशासन व्यवस्था ने किया है। रांची की प्रशासन व्यवस्था ने अपने नागरिकों के खाद्यान्न व्यवस्था के लिए एक रुपए प्रति 10 किलो चावल का वितरण करने का फैसला लिया है।

ration card

रांची जिले में कुल कितने किलोग्राम चावल का आवंटन शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र में किया जाएगा ?

रांची की प्रशासन व्यवस्था ने सभी नए राशन कार्ड के आवेदकों को कुल 61,7490 किलोग्राम चावल वितरण करने का निर्णय लिया हुआ है , जिनमें कुल 18 प्रखंड शहर और 4 अंचलिय क्षेत्र शामिल हैं।

किस प्रकार से नए राशन कार्ड आवेदकों को लाभ प्राप्त हो सकता है ?

जो भी राशन कार्ड आवेदन करता है उसे राशन कार्ड का एनरोलमेंट नंबर या रसीद दी जाती है ,उसे लेकर और साथ ही में अपने आधार कार्ड को लेकर संबंधित प्रखंड या अंचल कार्यालय में आवेदक व्यक्ति को जाना होगा।कार्यालय में जाने के बाद आपको वहां से मोबाइल ऐप के माध्यम से अनाज उपलब्ध कराने की सुविधा के बारे में बता दिया जाएगा।

रांची जिले में नगर निगम को अपने जिले के नागरिकों के सहायता के लिए 5,00000 की राशि दी जाएगी ?

रांची प्रशासन व्यवस्था ने आकाश में खाद्यान्न कोष के अंतर्गत रांची जिले के नगर निगम को ₹5,00000 की नागरिक सहायता राशि को प्रदान करने का निर्णय लिया है। इस राशि को प्रत्येक नगर निगम के सभी वार्डों में जनप्रतिनिधियों को वितरित किया जाएगा , जिससे वह गरीब असहाय और जरूरतमंद लोगों को आवश्यक खाद्य पदार्थ मुहैया करा सके।

रांची प्रशासन व्यवस्था की इस पहल से रांची का प्रत्येक ग्रामीण एवं शहरी नागरिक इसकी प्रशंसा करता थक ही नहीं रहा है। रांची जिले के इस निर्णय की वजह से आज सभी प्रकार के जरूरतमंद परिवारों को आवश्यक खाद्य पदार्थ बिना राशन कार्ड के भी मिलने का अवसर मिल गया है।

ऐसी विषम परिस्थिति में जब कोरोना का संकट खत्म नहीं हों रहा हैं , ऐसे में रांची प्रशासन व्यवस्था ने यह महत्वपूर्ण निर्णय लेकर अपने रांची जिले के सभी नागरिकों का दिल जीत लिया है। रांची जिले की इस पहल से हमें यह पता चलता है , कि प्रत्येक राज्य की शासन व्यवस्था अपने नागरिकों के लिए हर एक संकट में उनके साथ खड़ी रहती है।

Other links –

Leave a Comment